Saturday, November 14, 2015

9 महीने पहले शुरू हो गई थी पेरिस हमले की साजिश, आतंकियों में एक की उम्र 15 साल


पेरिस हमले में अब तक 129 लोगों की मौत
फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुए आतंकी हमले को लेकर नए तथ्य सामने आए हैं. अधिकारियों के मुताबिक, आतंकवादियों की तीन अलग-अलग टीमों ने इस हमले को अंजाम दिया, जबकि इस हमले की खौफनाक साजिश करीब 9 महीने पहले ही शुरू हो गई थी. पुलिस ने बेल्जियम में ब्रुसेल्स के 3 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, वहीं बाटाक्लां कंसर्ट हॉल में हमला करने वाले एक आतंकवादी की पहचान भी हो गई है.
हमले को लेकर जो ताजा खुलासे हुए हैं, उसके मुताबिकआतंकियों में एक की उम्र महज 15 साल बताई जा रही है. अधिकारियों ने शनिवार रात को बताया कि शुरुआती जांच के बात यह सामने आई है कि आतंकी अक्टूबर महीने में लीरोस ग्रीक द्वीप के रास्ते से प्रवासी के तौर पर दाखि‍ल हुए थे. पुलिस को आतंकी की लाश के पास सीरिया का पासपोर्ट मिला है. समझा जा रहा है कि 15 साल के नाबालिग आतंकी ने फुटबॉल स्टेडियम में हमला किया था.
कटी हुई अंगुली से एक हमलावर की पहचान
फ्रांसीसी पुलिस ने कंसर्ट हॉल में खुद को विस्फोटक से उड़ा लेने वाले बंदूकधारियों में से एक व्यक्ति की पहचान पेरिस निवासी उमर इस्माइल मुस्तेफई (29) के रूप में कर ली है. पेरिस में हुए आतंकी हमलों में सबसे व्यापक जनसंहार इसी जगह हुआ था, जहां 89 लोग मारे गए थे. पेरिस हमले में मरने वालों की संख्या आधिकारिक रूप से बढ़कर 129 हो गई है, जबकि 352 लोग घायल बताए जा रहे हैं.
उमर के पिता और 34 वर्षीय भाई को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और जांच से जुड़े एक करीबी सूत्र ने बताया कि जांचकर्ता अब हत्यारे के अन्य दोस्तों और रिश्तेदारों के घर तलाश रहे हैं. उमर की पहचान की पुष्टि कटकर अलग हुई उसकी उंगली के निशान के जरिए हुई. उमर चरमपंथी इस्लाम के करीब था, लेकिन कभी भी उसका संबंध आतंकवाद से नहीं जोड़ा गया था.
'अनुभवी और ट्रेंड थे आतंकी'
पुलिस ने कहा कि हमलावर प्रथम दृष्ट्या अनुभवी और अच्छी तरह प्रशिक्षित जान पड़ते हैं. आगे इस बात की जांच की जा रही है कि क्या ये लोग कभी सीरिया में जाकर लड़े थे? सीरिया और पड़ोसी इराक के एक क्षेत्र में आईएस ने खलीफा का शासन घोषित कर रखा है.
ग्रीस के डिप्टी पब्लिक ऑर्डर मिनिस्टर निकोस टॉसकस ने अपने एक बयान में कहा, 'आतंकी हमले के घटना स्थल से प्राप्त सीरिया के पासपोर्ट के संबंध में हम यह घोषणा करना चाहेंगे कि पासपोर्ट धारक 3 अक्टूबर को लीरोस होकर गुजरा था. हम नहीं जानते की उसके पासपोर्ट की जांच अन्य दूसरे देशों में भी हुई या नहीं.' अधिकारियों का कहना है कि दूसरे तीन आतंकी बेल्जियम में ब्रुसेल्स के निवासी हो सकते हैं. आतंक-रोधी पुलिस बल ने कई जगह छापेमारी कर तीन संदिग्धों को गिरफ्तार भी किया है.
'विदेशों में बनी योजना, फ्रांस से मिली मदद'
फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा, 'पेरिस के हमले की तैयारी, व्यवस्था और योजना विदेशों में हुई और इसके लिए फ्रांस के भीतर से मदद मिल रही थी.' फ्रांस की राजधानी के कुछ बेहद लोकप्रिय रात्रिकालीन मनोरंजन स्थलों पर किए गए जनसंहार की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली है. इन स्थानों में एक कंसर्ट हॉल, रेस्तरां, बार और फ्रांस के राष्ट्रीय स्टेडियम के बाहर की जगह शामिल थी.
और भी
Share This
Previous Post
Next Post

Pellentesque vitae lectus in mauris sollicitudin ornare sit amet eget ligula. Donec pharetra, arcu eu consectetur semper, est nulla sodales risus, vel efficitur orci justo quis tellus. Phasellus sit amet est pharetra

0 comments: